30+ नए ETF CFD

ATFX ETF CFD ट्रेडिंग के फायदे

ETF निवेश

आपके पास जब भी नकदी की कमी हो और आप कम न्यूनतम निवेश करना चाहें, तो ETF बाजार में प्रवेश करना उपयुक्‍त विकल्‍प है। सीधे शब्दों में कहें, तो आप एक ETF उसी कीमत पर खरीद सकेंगे जिस कीमत पर आप इंडेक्‍स पर एक शेयर खरीदेंगे। उदाहरण के लिए, यदि आपके पास किसी कंपनी का 1 शेयर खरीदने का न्यूनतम मूल्य न हो, तो आप एक ETF खरीद सकते हैं जिसमें वही कंपनी ट्रैक किए जाने वाले इंस्‍ट्रूमेंटों में से एक है।

एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड निवेश शुरू करना आसान बनाते हैं। वे सीधे और समझने में आसान हैं। इसलिए, शुरुआती निवेशक अच्छे रिटर्न से निष्क्रिय आय कमाने के लिए ETF उपयोग कर सकता है।

अधिक स्पष्टता के लिए, ETF में निवेश कैसे करें और ETF की कुछ अनूठी विशेषताएं यहां दी गई हैं।

आपके द्वारा ETF खरीदने पर, व्यवहार में, आप एक ही बार में अनेक शेयरों के संग्रह के अंश खरीदते हैं। निवेशक जब ETF में शेयर खरीदता है, तो उसका पैसा निश्चित उद्देश्य पूरा करने वाले आकर्षक निवेशों का संग्रह खरीदने के लिए स्‍प्रेड किया जाता है। उदाहरण के लिए, यदि कोई S&P 500 ETF खरीदता है, तो अप्रत्यक्ष रूप से वह उस इंडेक्‍स में सूचीबद्ध 500 कंपनियों में निवेश करता है।

कुछ हद तक ETF म्यूचुअल फंड की तरह काम करते हैं, हालांकि, म्यूचुअल फंड की निश्चित दैनिक कीमत और निश्चित खरीद राशि होती है। एक और मामूली अंतर यह है कि म्यूचुअल फंड में, सभी ट्रांजेक्‍शनों में समय लगता है। ETF एक्सचेंज पर सूचीबद्ध प्रमुख शेयरों की तरह ही खरीदे जा सकते हैं। ETF का फायदा यह है कि आपको केवल यह चुनना होगा कि आपको कितने ETF शेयर खरीदने हैं और उन्हें स्टॉक की तरह ट्रेड करना है। कीमतों में पूरे दिन उतार-चढ़ाव होता है, और बाजार खुले होने पर उनमें कोई भी ट्रेड कर सकता है।

ETF और म्यूचुअल फंड में अंतर

ETFsम्यूचुअल फंड्स
ETF निवेशकों को एक ही ट्रेड एकसाथ अनेक स्टॉक और बॉन्ड में स्‍प्रेड करने देता है। एकल ट्रेड अनेक बाज़ार सेग्‍मेंटों पर कब्ज़ा कर सकता है।विविध पोर्टफोलियो में निवेश करने के लिए निवेशक पैसा इकट्ठा करते हैं।
ETF आप किसी भी एक्‍सचेंज से खरीद सकते हैं।शेयर जारी करने वाली कंपनी से निवेशकों को सीधे म्यूचुअल फंड खरीदने होते हैं।
बाज़ार खुला होने पर कीमतों में लगातार उतार-चढ़ाव होता रहता है। बाजार समय में आप किसी भी समय ETF खरीद सकते हैं।दिन में एक बार म्यूचुअल फंड्स को बाजार मूल्य निर्धारित करना होता है।

ETF और म्यूचुअल फंड्स की तुलना

विशेषताएँETFsम्यूचुअल फंड्स
विविधीकरण के फायदे
इंट्राडे मूल्य निर्धारण
ऑप्‍शन ट्रेडिंग
मार्जिन खरीदारी
शॉर्ट बिक्री
कैपिटल गेंस उपचार पर नियंत्रण

ETF खरीदने से पहले ध्यान देने योग्य अन्य बातें:

1. निष्क्रिय एवं सक्रिय ETF

निष्क्रिय ETF आमतौर पर निश्चित इंडेक्‍स ट्रैक करते हैं और उसके समग्र प्रदर्शन से मेल खाना चाहते हैं। दूसरी ओर, सक्रिय ETF ऐसे इंस्‍ट्रूमेंटों में निवेश करने के लिए पोर्टफोलियो विशेषज्ञों को नियुक्त करेगा जो इंडेक्‍स के समग्र प्रदर्शन को मात देंगे।

2. व्यय अनुपात

ETF आमतौर पर शुल्क लेते हैं जिसे व्यय अनुपात कहते हैं। व्यय अनुपात वार्षिक प्रतिशत के रूप में चिह्नित किया जाता है जो आपके द्वारा निवेश की गई कुल राशि दर्शाता है। कम व्यय अनुपात वाले ETF में आपके निवेश करने पर आप अधिक बचत करेंगे।

3. ETF डिविडेंड का भुगतान करते हैं

अपने पोर्टफोलियो के हिस्से के रूप में ETF में निवेश करने पर, आप डिविडेंड का आनंद उठा सकते हैं जिसका भुगतान नकद या पुनर्निवेश (डिविडेंड पुनर्निवेश योजना) में हो सकता है।

प्रति माह ETF में कितना निवेश करें?

निवेश करने के लिए ETF में ट्रेडिंग के लिए किसी सैद्धांतिक न्यूनतम या अधिकतम राशि की जरूरत नहीं होती। इसकी डिफ़ॉल्ट विविधीकरण क्षमताओं से, ETF निवेश शुरू करने के लिए बड़ी मात्रा में निवेश की आवश्यकता नहीं होती, फिर भी आप एक क्लिक में अनेक प्रकार के शेयरों में निवेश कर सकते हैं। स्‍टॉक की तरह आप ETF ट्रेड भी कर सकते हैं और इसमें अधिक विविधीकरण होता है। 

हालाँकि, कुछ ब्रोकर आंशिक शेयर ऑफर करते हैं; कम से कम, आपको ETF का ट्रेड करने के लिए अंतर्निहित शेयरों की कीमत का निश्चित अंश चुकाना होगा। यह $10 जितना कम हो सकता है।

आप भले ही कितनी भी राशि निवेश करना चाहें, आपको भुगतान की जाने वाली फीस के लिए कुछ अतिरिक्त राशि शामिल करनी होगी। जब आप खरीदारी या बिक्री करते हैं तो ट्रांजेक्‍शन शुल्क लिया जाता है। कमीशन भी लिया जाता है, लेकिन अधिकांश ब्रोकर हाल ही में शून्य -कमीशन ट्रेडिंग की ऑफर करते हैं। ट्रेड करने से पहले हमेशा अपने चुने हुए के साथ इन शुल्कों और कमीशन की पुष्टि करें। फिर भी, जो ब्रोकर कमीशन लेते हैं वे ETF की सूची रखेंगे जिनमें आप कमीशन-मुक्त ट्रेड कर सकते हैं।

आप जितने चाहें उतने ETF खरीद सकते हैं, लेकिन यह सब इस पर निर्भर करता है कि उनकी कीमत कितनी है और आप कितना निवेश करने को तैयार हैं। इसमें प्रवेश लेवल की काफी एक्‍सेस है, इसलिए आपको अपना सारा पैसा एक बार में खर्च करने की ज़रूरत नहीं है। आप फ्रैक्शनल ETF का फायदा उठाकर आगे बढ़ते हुए निर्माण कर सकते हैं।

जब आप अपना पहला डिपॉजिट करते हैं, तो ब्रोकर या कस्टोडियन कंपनी आपका पैसा रोक लेगी। हर बार लॉगिन करने पर अपने पोर्टफोलियो और उपलब्ध बैलेंस मॉनिटर करने के लिए अपने बनाए अकाउंट का उपयोग करें।

ETF CFD​ ट्रेडिंग के फायदे

लचीले ट्रेडिंग ऑप्‍शंस

पारंपरिक म्यूचुअल फंड के विपरीत, ETF स्टॉक की तरह कीमत में बदलाव कर सकते हैं और वित्तपोषण, शॉर्टिंग या ट्रेडिंग विकल्पों से ट्रेड करने दे सकते हैं, जिससे आपको पारंपरिक म्यूचुअल फंड के मुकाबले अधिक लचीलापन मिलता है।

पोर्टफोलियो की विविधता बढ़ाएँ

ETF में निवेश करना एक ही समय में अनेक प्रतिभूतियों में निवेश करने जैसा है, अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाकर आप जोखिम कम कर सकते हैं।

पारदर्शिता

ETF को इंडेक्‍स की संरचना की नकल करने और उस इंडेक्‍स को ट्रैक करने के लिए तैयार किया गया है।

कम दाम

कुछ ETF विभिन्न क्षेत्रों या यहां तक कि विभिन्न देशों में बाजारों को ट्रैक करते हैं। ETF में निवेश को अमेरिकी शेयरों और विदेशी बाजारों में निवेश का बढ़िया विकल्प बनाना।

कम दाम

ETF खरीदने की लागत आमतौर पर म्यूचुअल फंड खरीदने के मुकाबले कम होती है। ATFX के साथ ट्रेड करने वाले ETF के लिए कोई मैनेजमेंट शुल्क नहीं है।

ATFX से ETF CFD का ट्रेड करें

सबसे लोकप्रिय वित्तीय, कीमती मेटल, प्रौद्योगिकी और ऊर्जा शेयरों के साथ ATFX 30+ नए ETF CFD ऑफर करता है। आप सीधे अपने ATFX अकाउंट से 300+ ऐसी कंपनियों के CFD ट्रेड कर सकते हैं। सर्वोत्तम बाजार मूल्य पाएं और बड़ी पोजीशनें ट्रेड करने के लिए हमारे 1:20 लीवरेज का उपयोग करें।

ATFX आपको ETF पर अंतर के लिए अनुबंध का ट्रेड करने का सुविधाजनक ऑप्‍शन देता है। CFD ट्रेडिंग में, निवेशक को किसी भी एक्सचेंज पर ETF का दावा खरीदने या बेचने की ज़रूरत नहीं होती। वे अंतर्निहित ETF के मूल्य उतार-चढ़ाव पर ट्रेड कर सकते हैं। ट्रेडर बिना किसी स्वामित्व हित प्रतिबंध के लॉंग या शॉर्ट कर सकता है। (जब आप CFD ट्रेड करते हैं तो कोई स्वामित्व हित नहीं होता)

CFD से, आप किसी भी दिशा में, किसी भी बाजार सेक्‍टर से और दुनिया भर के किसी भी क्षेत्र में ETF ट्रेड कर सकते हैं। यदि आपको वृद्धि या मूल्य में गिरावट की आशा हो तो आप इसकी गिरावट से लाभ कमाने के लिए ETF CFD शॉर्ट-सेल कर सकते हैं। जब भी आप इसकी कीमत बढ़ने की उम्मीद हो, आप तो बस ETF CFD खरीद लेते हैं। 

CFD में ETF ट्रेडिंग आपको ट्रेड में प्रवेश करने के लिए पसंदीदा अनुमानित मूल्य के केवल छोटे हिस्से को प्रतिबद्ध करने के लिए लीवरेज लागू करने देती है। इससे ETF की ट्रेडिंग के लिए पूंजी की अपेक्षा काफी कम हो जाती है। ट्रेडिंग अवसरों की व्‍यापक रेंज में आप अपनी पूंजी में विविधता लाकर उसका उपयोग कर सकते हैं। 

ETF CFD के व्‍यापक चयन से आप ATFX अकाउंट से ट्रेड कर सकते हैं, इसका मतलब है कि आपके पास अच्छा ऑप्‍शन है जहां आपके निवेश की रुचि आपको इंगित करेगी। इसके अलावा, आपको अतिरिक्त मार्कअप के लिए भुगतान करने के बजाय प्रति ट्रेड केवल मामूली कमीशन चाहिए।

ETF CFD के व्‍यापक चयन से आप ATFX अकाउंट से ट्रेड कर सकते हैं, इसका मतलब है कि आपके पास अच्छा ऑप्‍शन है जहां आपके निवेश की रुचि आपको इंगित करेगी। इसके अलावा, आपको अतिरिक्त मार्कअप के लिए भुगतान करने के बजाय प्रति ट्रेड केवल मामूली कमीशन चाहिए।

ATFX द्वारा लॉन्च किए गए नए ETF

इंस्‍ट्रूमेंटनामन्यूनतम स्‍प्रेड
#ETF-ARGTGlobal X MSCI Argentina ETF(CFD)0.05
#ETF-ASHRXtrackers Harvest CSI 300 China A-Shares ETF(CFD)0.05
#ETF-DIASPDR Dow Jones Industrial Average ETF(CFD)0.08
#ETF-EEMiShares MSCI Emerging Markets ETF(CFD)0.05
#ETF-EFAiShares MSCI EAFE Index ETF(CFD)0.05
#ETF-EIDOiShares MSCI Indonesia ETF(CFD)0.05
#ETF-EPPiShares MSCI Pacific ex-Japan ETF(CFD)0.05
#ETF-EPUiShares MSCI Peru ETF(CFD)0.05
#ETF-ERUSiShares MSCI Russia Capped ETF(CFD)0.05
#ETF-EWHiShares MSCI Hong Kong ETF(CFD)0.05
#ETF-EWMiShares MSCI Malaysia ETF(CFD)0.05
#ETF-EWTiShares MSCI Taiwan ETF(CFD)0.05
#ETF-EWWiShares MSCI Mexico ETF(CFD)0.05
#ETF-EWYiShares MSCI South Korea ETF(CFD)0.05
#ETF-EWZiShares MSCI Brazil ETF(CFD)0.05
#ETF-EZAiShares MSCI South Africa ETF(CFD)0.05
#ETF-GDXVanEck Vectors Gold Miners ETF(CFD)0.05
#ETF-GLDSPDR Gold Trust ETF(CFD)0.05
#ETF-GXCSPDR S&P China ETF(CFD)0.05
#ETF-ILFiShares Latin America 40 ETF(CFD)0.05
#ETF-IVViShares Core S&P 500 ETF(CFD)0.08
#ETF-IWMiShares Russell 2000 ETF(CFD)0.05
#ETF-IYYiShares Dow Jones U.S. ETF(CFD)0.05
#ETF-KSAiShares MSCI Saudi Arabia ETF(CFD)0.05
#ETF-SMINiShares MSCI India Small Cap ETF(CFD)0.05
#ETF-SPYSPDR S&P 500 Index ETF(CFD)0.08
#ETF-THDiShares MSCI Thailand ETF(CFD)0.05
#ETF-USOUnited States Oil Fund ETF(CFD)0.05
#ETF-VNMVanEck Vietnam ETF(CFD)0.05
#ETF-VNQVanguard Real Estate Index Fund ETF(CFD)0.05
#ETF-VTIVanguard Total Stock Market Index ETF(CFD)0.05
#ETF-VUGVanguard Growth Index Fund ETF(CFD)0.05
#ETF-XLESPDR Energy Select Sector Fund ETF(CFD)0.05
#ETF-XLFSPDR Financial Select Sector Fund ETF(CFD)0.05
#ETF-XLKSPDR Technology Select Sector ETF(CFD)0.05

अकाउंट के लिए रजिस्‍टर करें

1.

अपना अकाउंट ओपन करें

लाइव ट्रेडिंग अकाउंट आवेदन फार्म पूरा करें। हमारे द्वारा आपकी पहचान सत्यापित हो जाने पर, हम आपका अकाउंट सेटअप कर देंगे।
2.

अपने अकाउंट में फंड डालें

ट्रेडिंग शुरू करने के लिए क्रेडिट कार्ड, ई-वॉलेट या बैंक ट्रांसफर से फंड डिपॉजिट करें।

3.

ट्रेडिंग शुरू करें

पीसी, एंड्रॉइड, आईपैड और आईफोन सहित हर डिवाइस पर या वेब ब्राउज़र से ट्रेड करें।

सामान्य प्रश्न

ETF नवोन्मेषी वित्तीय प्रोडक्‍ट, एक्सचेंज ट्रेडेड फंड का संक्षिप्त रूप है। यह एक तरह की सुरक्षा है जो किसी इंडेक्‍स, सेक्टर, कमोडिटी या अन्य एसेट ट्रैक करती है। ETF स्टॉक एक्सचेंज पर उसी तरह से खरीदा या बेचा जा सकता है, जिस तरह नियमित स्टॉक खरीदा या बेचा जा सकता है। किसी व्यक्तिगत कमोडिटी की कीमत से लेकर प्रतिभूतियों के बड़े और विविध संग्रह तक किसी भी चीज़ को ट्रैक करने के लिए ETF को संरचित किया जा सकता है। ETF में ट्रेड करते समय, आपके पास चुनने के अनेक ट्रेडिंग अवसर होते हैं क्योंकि ETF की लिक्विडिटी शेयरों की अंतर्निहित बास्‍केट की लिक्विडिटी दर्शाती है।

स्‍टेप 1 – ब्रोकर के पास अकाउंट ओपन करें

ETF ट्रेड करने के लिए आपके पास ऐसा ब्रोकर होना चाहिए जो ट्रेड के लिए आपको प्‍लेटफार्म उपलब्‍ध करवाए। हाल ही में, आपने ऐसे अनेक ब्रोकर देखें होंगे जिनके पास कमीशन-फ्री आधार पर चुनिंदा ETF ट्रेड उपलब्ध हैं। इससे सुनिश्चित होता है कि शुरु करने पर आपके लिए लागत कोई बड़ी बाधा नहीं होगी। त्वरित स्केच बनाकर ब्रोकरों की लागत संरचनाओं और उनके प्लेटफ़ॉर्म पर उपलब्ध फायदों की तुलना करें। यही समय है जब आपको आकर्षक प्रमोशन तलाशने चाहिए जो आपका मुनाफा बढ़ाने में मदद करेगा।

 

इसके बाद, प्‍लेटफार्म पर मिलने वाले शैक्षिक प्रोत्साहनों पर विचार करें। पॉडकास्ट और वेबिनार जैसे प्रशिक्षण और सलाहकार इंस्‍ट्रूमेंटों की व्‍यापक रेंज से पता चलता है कि ब्रोकर नौसिखिए ट्रेडर के निवेश की भी परवाह करता है।

 

अकाउंट बनाना और सत्यापित करना आसान है, अधिकांश अकाउंटों में शुरू से अंत तक सिर्फ 10 मिनट लगते हैं। यदि आपके पास बैंक अकाउंट नंबर (या क्रेडिट कार्ड) है तो इससे सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी कि आपके फंड तत्काल और सुरक्षा से ब्रोकर तक एक्‍सेस सकें।

 

कुछ ब्रोकरेज अनूठी छूट सुविधाएं देते हैं जैसे आपके यूके और अमेरिकी रिटायरमेंट बैंकिंग फंड जैसे 401 (के) या 403 (बी) से ETF खरीदने में सक्षम होना। ये सुनिश्चित करते हैं कि आपके रिटायरमेंट फंड भी रिटायरमेंट की प्रतीक्षा करने के बजाय निष्क्रिय आय उत्पन्न करते हैं। आप अपने ब्रोकर से पता कर सकते हैं कि क्या उनके पास टैक्‍स बैनिफि‍ट अकाउंट हैं जिनसे आप फायदा उठा सकें।

 

स्‍टेप 2 – अपनी पसंद का ETF चुनें

पैसिव इंडेक्स फंड में ट्रेडिंग शुरुआती लोगों के लिए बेहतर होती है क्योंकि वे ऑपरेट करना सीखते हैं। फंड के लिए काम करने वाले विश्लेषकों से उन्हें बहुत अधिक आश्चर्य नहीं होता। विशेषज्ञों द्वारा मैनेज होने वालों से इंडेक्स फंड सस्ते भी होते हैं। ऐतिहासिक रूप से, मैनेज किए जाने वाले फंड बेंचमार्क को बड़े अंतर से नहीं हरा पाते।

 

स्‍टेप 3 – ऐतिहासिक वृद्धि वाले ETF खरीदें

आपने अकाउंट में फंड डालने पर, आप ग्रोथ ETF की छोटी किश्तें खरीद सकते हैं। अपने द्वारा चुने गए ETF के टिकर सिंबल खोजकर ब्रोकर के प्लेटफॉर्म से आपको उनकी पुष्टि करनी होगी। इसकी पुष्टि के लिए उनके चार्ट प्रदर्शन देखें कि आप वही ETF देख रहे हैं जिन्‍हें आपको खरीदना था। कुछ ब्रोकर प्लेटफ़ॉर्म पर सीधे प्लेटफ़ॉर्म के रिसर्च सेक्‍शन से ETF खरीदना आसान बनाते हैं। अन्यथा, आप ट्रेड सेक्‍शन ओपन सकते हैं जहां सभी ETF सूचीबद्ध हों और पसंदीदा ETF पर स्क्रॉल करें।

 

स्‍टेप 4 – बाज़ार ऑर्डर दर्ज करें 

इसके बाद, आपको जितने ETF शेयर खरीदने हों, उनके नंबर चुनें और मार्केट ऑर्डर दर्ज करें। निश्चित लिमिट ऑर्डर देने और उस कीमत तक एक्‍सेस की इंतजार करने के मुकाबले बाजार ऑर्डर दर्ज करना त्‍वरित है। इंतजार करने में यदि आपको कोई आपत्ति न हो तो आप लिमिट आर्डर दे सकते हैं।

 

स्‍टेप 5 – फॉलो-अप प्‍लान बनाएं 

ETF ट्रेडिंग एक बार का काम नहीं है। अधिक अवसर एडजस्‍ट करने के लिए आपको अपना पोर्टफोलियो एडजस्‍ट करते रहना होगा। कुछ लोग संभावित ट्रेडों की पहचान कर समय के साथ धीरे-धीरे उन्‍हें इक्‍ट्ठा करते हैं। इसके अलावा, इसे देखते हुए कि कई लोग दीर्घकालिक बचत योजना के तौर पर ETF में निवेश करते हैं, आपकी मासिक आय का निश्चित प्रतिशत आपके ब्रोकरेज अकाउंट में जाना बुद्धिमानी है। इससे आपको भविष्य में अधिक शेयर खरीद में मदद मिलेगी ताकि अपने निवेश लक्ष्यों तक आप जल्‍द एक्‍सेस कर सकें। आपका ब्रोकर और बैंक आपको सहमत समय सीमा पर आपके ट्रेडिंग अकाउंट में कैश स्‍टैंडिंग ऑर्डर की अनुमति दे सकते हैं।

ETF आमतौर पर S&P 500 जैसे बड़े बाजार इंडेक्‍स की नकल करते हैं। ट्रेडिंग स्टॉक की तरह, एक्सचेंज से आप ETF में निवेश कर सकते हैं और उन्हें बनाए रखने पर आप डिविडेंड कमा सकते हैं। विशिष्ट इंडेक्‍स में उतार-चढ़ाव होने पर आप पैसा भी कमा सकते हैं। हालाँकि ETF ट्रेडिंग सुविधाओं को सपोर्ट करने वाले ब्रोकर से आप ETF खरीद सकते हैं। आपको केवल ATFX जैसे ऑनलाइन ब्रोकर के साथ अकाउंट ओपन करने की जरूरत है चूंकि इनमें से अधिकांश ब्रोकर ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए उपलब्ध हैं।

 

निवेशकों को ETF में ट्रेड करने के लिए ये ब्रोकर प्‍लेटफार्म देते हैं और प्रशिक्षण, विश्लेषण, समाचार और तकनीकी सपोर्ट जैसे अन्य आवश्यक फायदे उपलब्‍ध करवाते हैं। आपको सूचित रखने के लिए ATFX मजबूत विश्लेषण और ऐसा प्‍लेटफार्म ऑफर करता है जिसे उपयोग करना आसान है।

 

अच्छा ब्रोकर विभिन्न स्टॉक, ETF, बॉन्ड और करेंसियां ऑफर करेगा जिनका उपयोग आप अपने पोर्टफोलियो को अनुकूलित करने और बढ़ने के लिए मिलाकर कर सकते हैं। इसके अलावा, ETF पर अंतर के अनुबंधों का ट्रेड करने की क्षमता इसे घर से आराम से अपना पैसा निवेश करने का और भी अधिक सुविधाजनक और मजेदार तरीका बनाती है। ETF CFD सपोर्ट करने वाले ऑनलाइन ब्रोकर से आप ETF फंड का फायदा उठा सकते हैं और निश्चित एक्सचेंज से सीधे सौदा करने पर आप होने वाले अधिकांश खर्चों से बच सकते हैं।

 

कहां से ETF खरीदें, इसे तलाशते समय ऐसे ब्रोकर पर विचार करें जो इनमें से कुछ लाभ ऑफर करता हो

 

  1. ऐसा प्लेटफ़ॉर्म चुनें जिसमें चुनने के लिए बहुत सारे इंस्‍ट्रूमेंट हों।
  2. ब्रोकर सक्षम थर्ड-पार्टी रिसर्च ऑफर करता हो।
  3. उनके प्लेटफ़ॉर्म पर लॉगिन और किसी भी समय ट्रेड करने का सरल और सुविधाजनक तरीका।
  4. कम कमीशन से पुनर्निवेश के लिए अधिक लाभ बचेगा।
  5. ब्रोकर की किफायती न्यूनतम डिपॉजिट अपेक्षाएं होनी चाहिए।

यह जानने पर कि ETF कहां खरीदना है और आपके पास पहले से ही ब्रोकरेज अकाउंट है, अगला महत्वपूर्ण हिस्सा यह चुनना है कि कौन सा ETF खरीदना है। कुछ निवेशक सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला इंडेक्‍स चुनेंगे, जबकि कुछ अब भी जांचने के लिए और अधिक बॉक्स चुनेंगे। आपके लिए क्‍या उपयुक्त है उसे सीमित करने के विभिन्न तरीके हैं।

 

कुछ लोग भूगोल, एसेट प्रकार, शामिल इंडस्‍ट्री या ट्रेडिंग प्रदर्शन अनुसार उपलब्ध ETF को समूहित करते हैं। नीचे दिए स्‍टेप के उपयोग से अपने विकल्‍प सीमित करें:

 

विकल्प 1 – कम प्रशासन लागत ETF  

ETF निवेश में प्रशासन लागत को भी व्यय अनुपात कहते हैं। व्यय अनुपात जितना कम होगा, आपके निवेश के लिए उतना बेहतर होगा क्योंकि अपना अधिकांश लाभ आप अपने पास रख सकेंगे। 2020 में पैसिव फंड का औसत 0.12% था। शुरुआत के लिए यह आंकड़ा अच्छा है, लेकिन आपको संभवतः इससे नीचे कुछ आंकड़े मिलेंगे। 

 

विकल्प 2 – ETF सेग्‍मेंट से 

आप विचार कर सकते हैं कि इंडस्‍ट्री के किन सेग्‍मेंट में आपको निवेश करना है। इससे आपको सामान्य निवेश स्‍ट्रेटजी बनाने में मदद मिलेगी, जब आपको लगे कि वह सेग्‍मेंट अलग प्रदर्शन कर रहा है तो आप कभी भी बदल सकते हैं।

 

विकल्प 3 – निवेश फोकस से  

अपने पसंदीदा निवेश फोकस अनुसार आप ETF की अपनी पसंद चुन सकते हैं। उदाहरण के लिए, क्या आप इक्विटी या कमोडिटी पर ध्‍यान देंगे? आप इन सभी को मिक्स कर सकते हैं लेकिन इसे निश्चित वेटेज फॉर्मूले के अनुसार करें। उदाहरण के लिए, आप अपने पोर्टफोलियो में कमोडिटीज के बजाय ज्यादातर इक्विटी और ETF शामिल कर सकते हैं। बाजार में आप कुछ कमोडिटी ETF पा सकते हैं उनमें INVESCO DB एग्रीकल्चर फंड शामिल हो सकते हैं। उभरते बाजार में कुछ ETF अब खरीदने के लिए श्रेष्‍ठ हैं।

 

विकल्प 4 – अपने पोर्टफोलियो में ETF विवियाीकरण शामिल करें  

यहां तक कि जब आप अपने कुछ पसंदीदा और अनूठे बाजार सेग्‍मेंटों पर कब्जा न कर लें, आपको अपने कुछ फंड उन सेग्‍मेंटों में व्यापक रूप से फैलाने चाहिए। यदि आप इक्विटी ETF खरीद रहे हैं, तो आप निवेश को उभरते बाजारों और दुनिया भर में पहले से स्थापित बाजारों में विभाजित कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, आप एनर्जी स्टॉक चुन सकते हैं और उन्हें पूरे अमेरिका और यूके में फैला सकते हैं। आवश्यकता हो तो एक थीम भी रखें। नवीकरणीय एनर्जी समय के साथ फायदेमंद होती जा रही है, और बहुत सी कंपनियाँ अप्रत्यक्ष रूप से फलती-फूलती हैं, यहाँ तक कि इलेक्ट्रिक कारों जैसी विभिन्न इंडस्‍ट्री भी।

ETF निवेश इंस्‍ट्रूमेंट है जो सिर्फ एक ट्रेड से स्टॉक या बॉन्ड की बॉस्‍केट पर एक्सपोजर देता है। व्यक्तिगत रूप से इंस्‍ट्रूमेंटों को खरीदने के मुकाबले यह न्यूनतम खर्च पर भी होता है।

 

ETF सूचीबद्ध मुट्ठी भर शेयरों को चुनने और उनके मूल्य हासिल करने की उम्मीद से जुड़े अनेक परीक्षण और त्रुटि को कम करते हैं। वे अनुमान लगाना कम कर देते हैं क्योंकि आपका एक्सपोज़र बाज़ार के समग्र प्रदर्शन तक फैला होता है। ऐतिहासिक रूप से, संपूर्ण इंडेक्‍स वर्षों तक मजबूत बना रह सकता है।

 

ETF अन्य प्रकार के निवेशों, जैसे म्यूचुअल फंड के मुकाबले अधिक लिक्विड होते हैं, जिससे उन्हें सीधे आपके कंप्यूटर से या चलते-फिरते ट्रेड करना सुविधाजनक हो जाता है।

 

उदाहरण के लिए, बॉन्ड में निवेश करने के अनेक कदम उठाने पड़ते हैं, ट्रेडिंग और बॉन्ड ETF आपको निश्चित आय तक एक-क्लिक एक्‍सेस प्रदान करते हैं।

 

अपनी सीधी प्रकृति के कारण, ETF विशेषज्ञ और शुरुआती ट्रेडरों के लिए बाज़ार में भाग लेने का अच्छा तरीका है। वे हैंड्स-ऑफ और हैंड्स-ऑन, दोनों तरह के निवेशकों के लिए उपयुक्त हैं।

 

आप जैसा भी निवेशक बनना चाहें, वह आपको ETF निवेश पर अधिक ध्यान केंद्रित करने के लिए भी प्रेरित करेगा। शुरुआती, विशेषज्ञ निवेशकों और हैंड्स-ऑफ और हैंड्स-ऑन निवेशकों के लिए सॉल्‍यूशंस उपलब्ध हैं। ETF किफायती निवेश होने के कारण, आप रोबोट-सलाहकार एकीकरण वाले ब्रोकरों को चुन सकते हैं। ये विशेषज्ञ हैं जो पोर्टफोलियो बनाने और उसे मैनेज करने में आपकी मदद कर सकते हैं। 

 

कुछ निवेशक यह तर्क दे सकते हैं कि एकल स्टॉक खरीदने के मुकाबले पूरे इंडेक्‍स से रिटर्न बढ़ने के कुछ अवसर हैं। हालाँकि, यह सच नहीं क्योंकि हो सकता है कि वे आपको यह न बताएं कि सीज़न खोने पर, आप किसी ऐसे व्यक्ति के मुकाबले अधिक सुरक्षित होंगे जिसने एक ही कंपनी से बड़ी स्टॉक होल्डिंग खरीदी और वे गिर गए। भले ETF निवेश मैनेजमेंट लागतों से मुक्त नहीं, फिर भी वे बहुत कम हैं और आपको पोर्टफोलियो में प्रत्येक स्टॉक को मैनेज करने के सिरदर्द से बचाने लायक हैं।

 

हैंड्स-ऑन निवेशकों को ETF ऑर्डर की ट्रेडिंग करना निवेश करने का उपयुक्त तरीका लगेगा क्योंकि वे हमेशा चुन सकते हैं कि प्रति ट्रेड कितना निवेश करना है। वे वास्तविक समय में मूल्य उतार-चढ़ाव का भी आनंद ले सकते हैं और बाजार की हलचल के आधार पर अपनी स्थिति बदल सकते हैं। इससे उन्हें म्यूचुअल फंड के मुकाबले अपने पोर्टफोलियो प्रदर्शन पर अधिक नियंत्रण मिलता है।

ATFX

Account Registration Unavailable

Please note that you may be accessing this page from outside India. For retail and professional inquiries regarding AT Global Markets LLC, kindly reach out to us at [email protected].

ATFX

使用限制

ATFX

使用限制

ATFX

使用限制

ATFX

使用限制

ATFX

Restrictions on Use

ATFX

Restrictions on Use

ATFX

Restrictions on Use

ATFX

Restrictions on Use

ATFX

Restrictions on Use

ATFX

Restrictions on Use

ATFX

Restrictions on Use

ATFX

Restrictions on Use

Products and Services on this website https://www.atfx.com/hi-in/ are not suitable in your country. Such information and materials should not be regarded as or constitute a distribution, an offer, or a solicitation to buy or sell any investments.

ATFX

Restrictions on Use

ATFX

Restrictions on Use